Now Loading

बालिका वधु के दहलीज पर दूल्हे से पहले पहुंची प्रशासन की बारात, राजगढ़ कलेक्टर की त्वरित कार्रवाई, आधे रास्ते से बेरंग लौटी बारात,

राजगढ़-जिला प्रशासन ने खिलचीपुर के बघेला गांव में हो रहे दो बाल विवाह को रुकवा दिया, कलेक्टर हर्ष दीक्षित को जानकारी मिली कि बघेला गांव में दो नाबालिग बालिकाओं का विवाह हो रहा है, जिसपर कलेक्टर ने त्वरित करवाई करते हुए मौके पर बारात से पहले ही अधिकारियों की टीम पहुंचा दी, उनके निर्देश पर तहसीलदार आर एल बागरी, खिलचीपुर टी आई रविंद्र चावरिया सहित महिला विकास विभाग की टीम देर शाम मौके पर जा पहुंची । इधर बरात के लिए पलक पावड़े बिछाए दुल्हन के घर पर समाज और गांव के लोग बारात लेकर आते दोनो दुल्हो का इंतजार कर रहे थे। दोनो बराते पास के ही गांव सेदरा व सेदरी से आने वाली थी, वधु पक्ष के लोग बारात का स्वागत के लिए इंतज़ार कर रहे थे की तभी प्रशासन व पुलिस की सयुक्त की टीम ने बारात वाले घर पहुंचकर इस बाल विवाह को रूकवाया , अधिकारियों को दुल्हन की सही उम्र छिपाने उनके आधार कार्ड भी नही दिखाए गए लेकिन इनके नाबालिग होने की बात वधूपक्ष ने स्वीकार की। प्रशासन की टीम ने दो दुल्हन के नाबालिग होने की जानकारी ली तो परिजनों ने इंकार कर अपने दस्तावेज दिखाने में आना कानी की लेकिन, जब सख्ती से पूछताछ हुई तो परिजनों ने दुल्हन के नाबालिग होने की बात स्वीकार कर ली, इसके बाद तहसीलदार ने दोनों ही परिवारों को शादी नहीं करने की हिदायत दी, बधू पक्ष ने पहले विरोध किया। जब बात नहीं बनी तो फिर गुजारिश की लेकिन प्रशासन ने नियमों का हवाला देकर विवाह नहीं होने दिया। पुलिस ओर प्रशासन की सख्ती जब ज्यादा हुई तो ग्राम सेदरा व सेदरी से आई दोनो बाराते भी गांव पहुंचने से पहले ही वापस लोट गई । तहसीलदार ने बताया की हमे वरिष्ट अधिकारी के निर्देशन में खबर आई थी कि ग्राम बघेला में दो लड़कियों की जो नाबालिक लड़कियां हैं उनकी शादी हो रही है ,हम राजस्व की टीम , पुलिस टीम और महिला बाल विकास की टीम उक्त ग्राम में पहुंची, पहुंचने के बाद संबंधित लड़कियों के माता-पिता से चर्चा की गई चर्चा के दौरान माता-पिता सहमत हो गए कि हा 18 वर्ष से अधिक उम्र होनी चाहिए और मान गए,दोनों नाबालिक लड़कियों की उम्र 17 और 16 साल उम्र बताई जा रही ,लेकिन आधार कार्ड नही बताने पर इनकी आयु और काम होने की पूरी आशंका हे। बताया कि नाबालिग का विवाह रूकवा कर दोनों ही पक्षों के परिवारों को समझाइश दी है,हम दोनों ही परिवारों को निगाह रखे हुए हैं।