Now Loading

प्रो० हेमन्त कुमार पाल के दिशा-निर्देशन में एन०एस०एस० स्थापना दिवस हर्षोल्लास के साथ मनाया

राष्ट्रीय सेवा योजना स्थापना दिवस 24 सितम्बर के अवसर पर महाविद्यालय की टैगोर इकाई के स्वयंसेवकों ने प्राचार्य प्रो० हेमन्त कुमार पाल के दिशा-निर्देशन में एन०एस०एस० स्थापना दिवस हर्षोल्लास के साथ मनाया। इस अवसर पर स्वयंसेवकों ने राष्ट्रीय सेवा योजना :- समाज सेवा, राष्ट्र सेवा एवं व्यक्तित्व विकास का रचनात्मक मंच' विषय पर विचार गोष्ठी तथा वृक्षारोपण कार्यक्रम का आयोजन किया। विचार गोष्ठी में एन०एस०एस० प्रभारी डॉ० सुभाष चन्द्रा ने एन०एस०एस० स्वयंसेवर्कों द्वारा किये गये कार्यों की आख्या प्रस्तुत करते हुए बताया कि महाविद्यालय की टैगोर इकाई राष्ट्रीय सेवा योजना की मूल भावना के अनुसार विद्यार्थियों के व्यक्तित्व विकास के साथ-साथ समाज सेवा एवं राष्ट्र सेवा के लिए प्रतिबद्ध है। टैगोर इकाई के स्वयं सेवकों ने विश्वविद्यालय, एन०एस०एस० निदेशालय व जिला प्रशासन के निर्देशो के अनुसरण में समाज सेवा व राष्ट्र सेवा के विभिन्न पहलुओं को आत्मसात करते हुए अब तक सराहनीय कार्य किये गये हैं। विचार गोष्ठी में अर्थशास्त्र विभागाध्यक्ष डॉ० ज्योति पंत ने कहा कि राष्ट्रीय सेवा योजना युवाओं के व्यक्तित्व विकास एवं भविष्य निर्माण का रचनात्मक मंच है। महाविद्यालय की राष्ट्रीय सेवा योजना इकाई के स्वयंसेवकों ने शिक्षा, साक्षरता, स्वच्छता, पर्यावरण एवं जल संरक्षण, सड़क सुरक्षा अभियान, संचारी रोग नियंत्रण, बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ आदि से सम्बन्धित विविध कार्यकमों के माध्यम से समाज में सामुदायिक सेवा का सकारात्मक संदेश दिया है। विचार गोष्ठी में एसो0 प्रोफेसर डॉ० मनोज मिश्र ने एन०एस०एस० की कार्य पद्धति व स्वयं सेवकों द्वारा सेवा के माध्यम से शिक्षा ग्रहण करने के बारे में विस्तार से बताया। सांस्कृतिक समिति की अध्यक्ष एसो0 प्रोफेसर डॉ० नीलम त्रिवेदी ने कहा कि राष्ट्रीय सेवा योजना शैक्षिक परिसर, विद्यार्थी, ज्ञान और सामुदायिक सेवा की समग्र कड़ी है। एन०एस०एस० के माध्यम से विद्यार्थी सृजन, संरक्षण, गतिशीलता, समन्वय एवं प्रगतिशील दृष्टिकोण का अभ्यास करते हुए समाज के लोगों के साथ मिलकर समाज हित व देश हित में कार्य करते हैं। विचार गोष्ठी की अध्यक्षता करते हुए वाणिज्य विभागाध्यक्ष डॉ० डी०एन० मालपानी ने कहा कि एन०एस०एस० स्वयंसेवक सकारात्मक दृष्टिकोण को अपनाते हुए भविष्य निर्माण के साथ-साथ जिम्मेदार नागरिक बनें यही सच्ची सेवा है। महाविद्यालय की राष्ट्रीय सेवा योजना इकाई के स्वयं सेवकों ने अब तक शिक्षा एवं समुदाय सेवा के क्षेत्र में सराहनीय कार्य किये हैं जो आने वाले विद्यार्थियों के लिए अनुकरणीय है। महाविद्यालय के अध्ययनरत विद्यार्थी राष्ट्रीय सेवा योजना से जुड़े और शिक्षण / प्रशिक्षण के माध्यम से अच्छे भविष्य का निर्माण करें। इसीक्रम में एन०एस०एस० स्वयंसेवकों ने अपने अनुभव साझा करते हुए बताया कि हम सबने राष्ट्रीय सेवा योजना के माध्यम से सामुदायिक भागीदारी, लोकतांत्रिक दृष्टिकोण को समझा और निस्वार्थ सेवा करने की सीख ली। एन०एस०एस० स्वयं सेवक के रूप में प्राप्त अनुभव निश्चित ही हम सबको जीवन पर्यन्त नई दिशा प्रदान करता रहेगा। विचार गोष्ठी के पश्चात शिक्षकों व स्वयंसेवकों ने महाविद्यालय परिसर में वृक्षारोपड़ कर पर्यावरण संरक्षण की शपथ ली। स्थापना दिवस समारोह का सफल संचालन एन०एस०एस० प्रभारी डॉ० सुभाष चन्द्रा ने किया। इस अवसर पर महाविद्यालय के शिक्षक डॉ० एस०के० पाण्डे, डॉ० इष्टविभु, डॉ० मनोज कुमार, डॉ० विजय प्रताप सिंह, डॉ० दीपक बाजपेई, डॉ० बृजेश शुक्ला, डॉ० अमित कुमार, डॉ० श्वेतांक भारद्वाज, डॉ० मानवेन्द्र यादव, डॉ० रचित कुमार, डॉ० धर्मनारायण, डॉ० सौरभ वर्मा सहित बड़ी संख्या में छात्र/छात्रायें उपस्थित रहे। प्रो हेमन्त पाल प्राचार्य युवराज दत्त स्नातकोत्तर महाविद्यालय लखीमपुर-खीरी,उ प्र