Now Loading

हाई कोर्ट ने जेलर को धमकाने के मामले में मुख्तार अंसारी को 7 साल कैद की सजा सुनाई

इलाहाबाद हाईकोर्ट की लखनऊ बेंच ने गैंगस्टर और पूर्व विधायक मुख्तार अंसारी को आलमबाग थाने में दर्ज एक आपराधिक मामले में दोषी करार दिया है| अदालत ने मुख्तार अंसारी को आईपीसी की धारा 506 के तहत 7 साल कैद की सजा सुनाई और 25,000 रुपये जुर्माना लगाया| 28 अप्रैल 2003 को तत्कालीन जेलर एसके अवस्थी द्वारा अंसारी के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की गई थी| दरअसल, जेल में तत्कालीन विधायक मुख्तार अंसारी से मिलने कुछ लोग आए थे, पुलिस ने जब इन लोगों की तलाशी ली तो मुख्तार अंसारी भड़क गए और उनसे मिलने आए एक व्यक्ति से रिवॉल्वर ले लिया और जान से मारने की धमकी देते हुए एसके अवस्थी पर तान दी| 23 दिसंबर 2020 को एमपी एमएलए कोर्ट ने मुख्तार को इस मामले में बरी कर दिया था|

और पढ़ें:  दैनिक भास्कर  |  हिंदुस्तान  

इस समाचार को शेयर करें और अपने शेयर किए लिंक पर प्रत्येक व्यू के लिए कॉइन्स अर्जित करें